Sunday, November 27, 2022

सबसे ज्यादा क्या मायने रखता है: तीव्रता या निरंतरता?

माँ ने कहा, “अगर आप आज ८ घंटे कसरत करते हैं तो आप फिट नहीं होंगे, लेकिन अगर आप दिन में ३० मिनट भी व्यायाम कर रहे हैं तो आपको अच्छा स्वास्थ्य मिलेगा।”

“बिल्कुल, आप जो कर रहे हैं उसमें लगातार बने रहने की जरूरत है।कुछ करने की आपकी तीव्रता कोई मायने नहीं रखती।” मेरे पिता ने जोड़ा।

मैं सोच रहा था कि लंबी कसरत के बाद मुझे थकान क्यों महसूस हो रही है। तब मेरी माँ और पिताजी ने मुझसे यह बातचीत की।

यह तीव्रता और निरंतरता पर एक छोटी लेकिन सार्थक चर्चा थी।

निरंतरता में विश्वास रखने के बावजूद, मैं कभी-कभी कुछ चीजों पर नजर रखने में असफल हो जाता हूं।

ऐसा क्यों होता होगा?

क्योंकि हम मुख्य रूप से चीजों को बड़े उत्साह के साथ शुरू करते हैं लेकिन उसमें सफल होने के लिए आवश्यक निरंतरता को बनाए रखने में असफल होते हैं।

यह उद्धरण आता है,

“दीर्घकालिक निरंतरता अल्पकालिक तीव्रता को हरा देती है।”

ब्रूस ली

हम सभी जीवन में कुछ लक्ष्यों को प्राप्त करना चाहते हैं। हम भी प्रेरित होते हैं और उसमें अपनी ऊर्जा लगाते हैं। लेकिन थोड़ी सी भी असफलता हमारे प्रयासों को बंद कर देती है और लक्ष्य की दिशा बदल देती है।

निरंतर होने के लिए, हमारे लक्ष्यों पर यथार्थवादी और विशिष्ट होना आवश्यक है। हमें इसके प्रति एक स्पष्ट दिशा की आवश्यकता है। आवश्यकता पड़ने पर हमारे पास “क्या हो सकता है” की योजना होनी चाहिए। कुछ भी हो, हमें जो हासिल करने की जरूरत है उसमें प्रयास करने के लिए हमें हमेशा तैयार रहना चाहिए।

छोटी छोटी कामयाबी हासिल करने के लिए खुद को पुरस्कृत करना, हमने खुद से किए वादों को निभाना बहुत महत्वपूर्ण है।

हमें आराम करके और फिर से खुद को रिचार्ज करके अपनी छोटी-छोटी असफलताओं को दूर करना चाहिए।

कभी-कभी, संतुष्टि में देरी करना जीवन में लगातार बने रहने का सबसे सटीक तरीका है। छोटी-छोटी असफलताओं के लिए खुद को क्षमा करना और खुद को रिचार्ज करना ज़रूरी है।

ठीक है, अब हम सभी सोच सकते हैं, हाँ, निरंतर होना मायने रखता है, लेकिन क्या तब तीव्रता कभी मायने नहीं रखती?

नहीं, ऐसा नहीं है।

जहां मायने रखता है वहां तीव्रता का अपना अस्तित्व होता है।

क्या होगा अगर मैं एक रनिंग मैराथन में लगातार ८ किमी प्रति घंटे के साथ दौड़ने की गति रखता हूं? मैं मैराथन हार सकता हूँ। कुछ और भी होंगे जो तीव्रता के साथ मेरी निरंतर गति से आगे बढ़ सकते हैं।

यहां एक ऐसी स्थिति आती है जहां तीव्रता मायने रखती है।

जीवन में, ऐसी स्थितियाँ होती हैं जहाँ तीव्रता सबसे अधिक मायने रखती है, जैसे कि ध्यान, व्यायाम, या यहाँ तक कि दीर्घकालिक परिणामों के लिए अल्पावधि में गहन कार्य।

इसलिए निरंतरता और तीव्रता दोनों ही हमारी सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। दोनों का अपना अस्तित्व है।

जब हमारा एक ही फोकस होता है, तो हमें अपने प्रयासों में निरंतरता और अपने कार्यों में तीव्र होने की आवश्यकता होती है। हमें शुरू में तीव्रता से ध्यान नहीं खोना चाहिए और बाद में निरंतरता का साथ नहीं छोड़ना चाहिए।

मेरे पसंदीदा लेखक उद्धरणों में से एक, जेम्स क्लियर, “ज्यादातर लोगों को तीव्रता की आवश्यकता से अधिक निरंतरता की आवश्यकता होती है। तीव्रता एक अच्छी कहानी बनाती है। निरंतरता प्रगति करती है।”

तो, प्रिय सभी, आइए परिस्थितियों को समझें और सफलता की ओर कदम बढ़ाएं। लक्ष्यों के प्रति निरंतर रहें, और जहाँ भी आवश्यक हो कार्यों में खुद को गहन बनाएं।

क्या आपको मेरे लेख पढ़ने में आनंद आ रहा है?

इस लेख को साझा करें और आपको प्रेरित करने के लिए ऐसी कहानियों से भरा साप्ताहिक समाचार पत्र प्राप्त करने के लिए मुफ्त सदस्यता लें!

What are your thoughts on this?

Please enter your feedback!
Please enter your name here

दैनन्दिनी